Operating System क्या है इसका क्या काम होता है

ऑपरेटिग सिस्टम किसी ही कंप्यूटर के लिए एक बहुत आवश्यक सॉफ्टवेयर होता है। बिना ऑपरेटिग सिस्टम के कंप्यूटर चलना एक बहुत ही ज्यादा कठिन कार्य है। 

आपके पास जितने भी Device हैं उन सब में कोई ना कोई Operating System जरूर होता है चाहे वो Android हो, Windows हो, iOS हो या कोई अन्य। 

तो चलिए जानते है की ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता है (What is Operating System in Hindi), ऑपरेटिंग सिस्टम के कार्य (Functions of Operating System in Hindi), ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार (Types of Operating System in Hindi).
what is operating system in hindi


Operating System क्या है Operating System in Hindi

एक सिस्टम सॉफ्टवेयर होता है जो उपयोगकर्ता और हार्डवेयर के बीच संबंध स्थापित करता है तथा इनके बीच Interface का कार्य करता है । 
यह सभी प्रकार के Programs को क्रि
यान्वित करता है। 
Operating System कंप्यूटर के सभी बेसिक कार्य जैसे Process Management, Memory Management, File Management, Input तथा Output के साथ साथ External devices जैसे Printers तथा Drives को भी नियंत्रित करता है। 
operating system in hindi

ऑपरेटिंग सिस्टम को sort form में OS कहते हैं। 


List of Popular OS with Market Share(लोकप्रिय OS )


  • Windows
  • Android
  • Macintosh(Mac)
  • iOS
  • Linux (My favorite)
  • Unix
  • Solaris OS
  • KaiOS
  • Symbian 


Functions of Operating System in Hindi (ऑपरेटिंग सिस्टम के कार्य)


  • Memory Management (मेमोरी प्रबंधन)
  • Device Management (डिवाइस प्रबंधन)
  • Process Management (प्रोसेस प्रबंधन)
  • File Management (फ़ाइल प्रबंधन)
  • Security (सुरक्षा)
  • Performance control (परफॉर्मेंस नियंत्रण)
  • Error detecting & troubleshooting (एरर देखना तथा उसे ठीक करना)
  • Coordination between other software and users (अन्य सॉफ्टवेयर तथा प्रयोगकर्ता के बीच संबंध स्थापित करना)



Memory Management (मेमोरी प्रबंधन)


ऑपरेटिंग सिस्टम निर्धारित करता है कि किस प्रोग्राम को कब और कितना मेमोरी देना है। 


Device Management (डिवाइस प्रबंधन)


OS विभिन्न डिवाइस को उनके drivers के द्वारा कंट्रोल करता है तथा यह भी निर्धारित करता है कि किस प्रोग्राम को कब डिवाइस उपलब्ध कराना है। 


Process Management (प्रोसेस प्रबन्ध)


OS यह भी निर्धारित करता है कि किस प्रोसेस को कब तथा कितने समय के लिए चलना है तथा उसे CPU उपलब्ध कराना है। 


File Management (फ़ाइल प्रबंधन) 


OS फाइल्स को एक व्यवस्थित तरीके से मैनेज करता है तथा उसे ठूंढने, खोलने, डिलीट करने में हमारी मदद करता है। 


Security (सुरक्षा) 


ऑपरेटिंग सिस्टम हमारे डेटा को सुरक्षा प्रदान करता है तथा कंप्यूटर को अनाधिकृत प्रयोग को रोकता है। 


Performance control (परफॉर्मेंस नियंत्रण)


एक सेवा के लिए अनुरोध और सिस्टम से प्रतिक्रिया के बीच देरी दर्ज करना। 


Error detecting & troubleshooting (एरर देखना तथा उसे ठीक करना)


सिस्टम में आई हुई एरर को ढूंढने तथा उसे ठीक करने में हमारी मदद करता है। 


Coordination between other software and users (अन्य सॉफ्टवेयर तथा प्रयोगकर्ता के बीच संबंध स्थापित करना)


अन्य प्रोग्राम्स जैसे compilers, Interpreters, Assemblers तथा अन्य सॉफ्टवेयर तथा प्रयोगकर्ता के बीच समन्वय स्थापित करता है। 


Types of Operating System in Hindi (ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार)



  • Simple Batch System
  • Multiprogramming Batch System
  • Multiprocessor System
  • Distributed Operating System
  • Real-time Operating System
  • Parallel Operating System



Simple Batch System


इस प्रकार की प्रणाली में, उपयोगकर्ता और कंप्यूटर के बीच कोई सीधा Interaction नहीं होता है। 
उपयोगकर्ता को कंप्यूटर ऑपरेटर को कार्य देना होता है। तब कंप्यूटर ऑपरेटर एक इनपुट डिवाइस में कई कार्यों का एक बैच रखता है। तब एक विशेष कार्यक्रम, मॉनिटर, बैच में प्रत्येक कार्यक्रम के execute करने का प्रबंधन करता है


Multiprogramming Batch System


Multiprogramming Batch System एक ही समय में एक ही कंप्यूटर सिस्टम का उपयोग अलग अलग यूजर अलग अलग टर्मिनल से कर सकते हैं। प्रोसेसर समय (सीपीयू) जो कई उपयोगकर्ताओं के बीच साझा किया जाता है, को Multiprogramming Batch System कहा जाता है।


Multiprocessor System


इस सिस्टम में कई सारे processors एक ही मेमोरी को शेयर करते हैं तथा उसी से इनपुट लेते हैं। इसमे प्रोसेस का स्पीड अन्य सिस्टम से ज्यादा होता है। 


Distributed Operating System


इस सिस्टम में एक ही प्रोग्राम के कई सारे भाग एक साथ चल सकते हैं। 


Real-time Operating System


इस प्रकार के OS में दिए गए कमांड पर तुरंत कार्य होता है।


 Parallel Operating System / Network Operating System


नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम एक सर्वर पर चलता है। यह डेटा, उपयोगकर्ता, समूहों, सुरक्षा, एप्लिकेशन और अन्य नेटवर्किंग कार्यों का प्रबंधन करने की क्षमता प्रदान करता है।


Difference between 32 bit and 64 bit OS (32 बिट तथा 64 बिट OS में अंतर) 

32 Bit OS

64 Bit OS

एक साथ 32 बिट डेटा प्रोसेसिंग की अनुमति देता है

एक साथ 64 बिट डेटा प्रोसेसिंग की अनुमति देता है

32-बिट सिस्टम 3.2 जीबी रैम तक सीमित हैं।

64-बिट सिस्टम अधिकतम 17 बिलियन जीबी रैम की अनुमति देता है।

64-बिट एप्लिकेशन और प्रोग्राम काम नहीं करेंगे

32-बिट एप्लिकेशन और प्रोग्राम काम करेंगे

32-बिट सिस्टम में Dual Core और Quad Core संस्करण उपलब्ध हैं।

64 बिट सिस्टम Dual Core, Quad Core, Six Core और Eight Core संस्करणों के साथ सकते हैं।

32-बिट Applications के लिए 32-बिट OS और CPU की आवश्यकता होती है।

64-बिट Applications के लिए 64-बिट OS और CPU की आवश्यकता होती है।


Conclusion (निष्कर्ष)
  • ऑपरेटिंग सिस्टम एक सिस्टम सॉफ्टवेयर  होता है। 
  • किसी भी कंप्यूटर के लिए OS बेहद जरुरी होता है। 
  • OS कंप्यूटर के सभी प्रोसेस, I/O डिवाइस तथा मेमोरी को कंट्रोल करता है। 
  • Operating System मुख्यरूप से 6 प्रकार के होते हैं। 
  • कंप्यूटर के लिए Windows तथा मोबाइल के लिए Android सबसे लोकप्रिय ऑपरेटिंग सिस्टम हैं। 
दोस्तों अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें। अगर आपको कोई सवाल है ऑपरेटिंग सिस्टम को लेकर तो आप मुझसे कमेंट कर के पूछ सकते हैं। 
Khushwant

I don't know why but I love programming and this is what I talk about on this blog. Follow to stay updated. facebook instagram twitter whatsapp

1 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें
और नया पुराने