कंप्यूटर क्या है | What is computer in Hindi

Computer Definition in Hindi

आप अपने दैनिक जीवन में लगभग प्रीतिदिन कंप्यूटर का प्रयोग करते होंगे प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप में। अभी आप जिस डिवाइस में ये पोस्ट पढ़ रहे हैं वो भी एक प्रकार के कंप्यूटर ही है। कंप्यूटर Desktop Computer, Laptop, Mobile या Tablet के रूप में उपलब्ध होता है।

आज इस पोस्ट में हम कंप्यूटर क्या होता है (What is Computer in Hindi), कंप्यूटर कैसे कार्य करता है (How Computer Works in Hindi), कंप्यूटर के प्रकार (Types of Computers in Hindi), कंप्यूटर के विभिन्न भाग (Computer parts Name in Hindi) इत्यादि विषयों पर चर्चा करने वाले हैं। 


what is computer in hindi

कंप्यूटर क्या है ?

कंप्यूटर एक मशीन है जो प्रयोगकर्ता (User) द्वारा किसी माध्यम (सॉफ्टवेयर या हार्डवेयर) से दिए गए निर्देशों का संचालन करता है। 
कप्यूटर का मुख्य उद्देश्य डेटा ग्रहण (Input) करना, उसे प्रोसेस (Process) करना, तथा परिणाम (Output) दिखाना होता है। 
कंप्यूटर में डाटा (Text, Image, Video etc.) संग्रहित (Store), पुनः प्राप्त (Retrieve), तथा उसे प्रोसेस करके आउटपुट (Output) दिखाने की क्षमता होती है। 

कंप्यूटर के प्रकार (Types of Computers in Hindi)

  1. माइक्रो/पर्सनल कंप्यूटर (Micro/Personal Computer)
  2. वर्कस्टेशन (Workstation)
  3. मिनी कंप्यूटर (Mini Computer)
  4. मेनफ़्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computer)
  5. सुपर कंप्यूटर (Super Computer)

माइक्रो/पर्सनल  कंप्यूटर (Micro/Personal Computer)

माइक्रो या पर्सनल कंप्यूटर एक छोटा, single user कंप्यूटर होता है जो Microprocessor को CPU के तौर पर Use करता है। इसके साथ ही इसमें कीबोर्ड, मॉनिटर तथा एक स्टोरेज डिवाइस होता है। विश्व में आज पर्सनल कंप्यूटर की संख्या सबसे ज्यादा है क्योकिं यह आकार में छोटा होता है।
Mobile Phone, Laptop, Tablet, Desktop Computer इत्यादि माइक्रो/पर्सनल कंप्यूटर के उदाहरण हैं।

वर्कस्टेशन (Workstation)

वर्कस्टेशन भी माइक्रो कंप्यूटर की तरह ही Single User कंप्यूटर होता है लेकिन इसकी प्रोसेसिंग क्षमता माइक्रो कंप्यूटर से कहीं  है। वर्कस्टेशन कंप्यूटर में अच्छी Speed के साथ ही Storage क्षमता तथा Powerful Microprocessor और अच्छी quality के मॉनिटर लगे होते हैं। 
Workstations आमतौर पर विशेष कार्यों के लिए उपयोग किये जाते हैं जैसे CAD/CAM, Desktop Publishing, Software Development इत्यादि। 

मिनी कंप्यूटर (Mini Computer)

मिनी कंप्यूटर एक Multi User कप्यूटर होता है जो साइज में माइक्रो कंप्यूटर से बड़ा होता है। मिनी कंप्यूटर में एक साथ 10 से लेकर 200 तक प्रयोगकर्ता काम कर सकते हैं। 
इस प्रकार के कंप्यूटर का प्रयोग ज्यादातर लघु उद्योगों तथा संस्थानों में होता है। 

मेनफ़्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computer)

मेनफ़्रेम कंप्यूटर भी मिनी कंप्यूटर की तरह ही एक Multi User कंप्यूटर होता है जिसमे हजारों उपयोगकर्ता एक  सकते हैं। मेनफ़्रेम का प्रयोग बड़ी कंपनियों तथा सरकारी संस्थानों में किया जाता है। इसका साइज और प्रोसेसिंग क्षमता मिनी कंप्यूटर से कई गुना ज्यादा होता है। इस प्रकार के कंप्यूटर बेहद महंगे होते हैं। 

सुपर कंप्यूटर (Super Computer)

सुपर कम्यूटर दुनिया के सबसे तेज, बड़ा और सबसे महंगा कंप्यूटर होते हैं।  इनकी प्रोसेसिंग क्षमता सभी अन्य कम्प्यूटर्स की तुलना में बहुत  होती है।  इनका प्रयोग बेहद जटिल गणितीय समस्यायों को हल तेजी से हल करने में कियाफद जाता है। सुपर कम्प्यूटर्स का प्रयोग Scientific और Engineering आदि क्षेत्रों में जटिल कार्यों को करने के लिए किया जाता है। 

कंप्यूटर के विभिन्न भाग (Computer parts Name in Hindi)

  • इनपुट डिवाइस : इनपुट डिवाइस की मदद से हम कंप्यूटर को डाटा प्रदान करते हैं। उदाहरण के लिए कीबोर्ड, माउस, स्कैनर, जॉयस्टिक इत्यादि। 
  • आउटपुट डिवाइस : आउटपुट डिवाइस  की मदद से हम कंप्यूटर द्वारा किये गए कार्य का परिणाम प्राप्त कर सकते हैं जैसे मॉनिटर, प्रिंटर, स्पीकर इत्यादि। 
  • प्रोसेसर : यह इनपुट डिवाइस द्वारा प्राप्त डाटा पर कार्य करता है। 
  • मेमोरी : जब हम कोई एप्लीकेशन चलाते हैं तो उसका डाटा इसी प्राथमिक मेमोरी में स्टोर होता है। 
  • हार्ड डिस्क : इसमें हम अपने डाटा को स्थायी रूप से स्टोर कर सकते हैं। 
  • मदरबोर्ड : यह वह भाग है जो कंप्यूटर के अन्य सभी भागों या घटकों को जोड़ता है।

कंप्यूटर के जनक (Father of Computer in Hindi)

चार्ल्स बैबेज (Charles Babbage) को आधुनिक कंप्यूटर का जनक मन जाता है। चार्ल्स बैबेज एनालिटिकल इंजन (Analytical Engine) का अविष्कार किया था जिसमें उन्होंने अंकगणितीय तर्क इकाई यानि ALU तथा एकीकृत मेमोरी का प्रयोग किया था। चार्ल्स बैबेज का जन्म 1791 में लन्दन में हुआ था। 

कंप्यूटर का फुल फॉर्म (Full form of computer in Hindi)

कंप्यूटर Technically कोई फुल फॉर्म नहीं होता है परन्तु सुविधा के लिए कंप्यूटर के कई फुल फॉर्म बनाये गए हैं। इनमे से सबसे प्रचलित कुछ इस  प्रकार है  .....
  • C - आम तौर पर 
  • O - संचालित 
  • M - मशीन 
  • P - विशेष रूप से 
  • U - प्रयुक्त 
  • T - तकनीकी 
  • E - शैक्षणिक 
  • R  - अनुसंधान
COMPUTER = कॉमनली ऑपरेटेड मशीन पार्टिकुलरली यूज़ड इन टेक्निकल एंड एजुकेशनल रिसर्च

कंप्यूटर के लाभ (benefits of in Hindi)

  • समय की बचत होती है 
  • उत्पादकता बढ़ती है 
  • इंटरनेट के माध्यम से लोगो से संपर्क कर सकते हैं 
  • डाटा मैनेज करने में आसानी होती है 

दोस्तों अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। अगर आपको कोई सवाल है तो आप मुझसे कमेंट  पूछ सकते हैं। 
Khushwant

I don't know why but I love programming and this is what I talk about on this blog. Follow to stay updated. facebook instagram twitter whatsapp

1 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें
और नया पुराने